एकमुश्त समाधान योजना 2020

उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना 2020

उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना की शुरुआत राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा किसानो को लाभ पहुंचाने के लिए किया गया है। इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के किसान को एक मुश्त ऋण चुकाने पर 35 प्रतिशत से लेकर शत-प्रतिशत छूट सरकार द्वारा प्रदना की जाएगी। राज्य के बहुत से ऐसे किसान है जो कई बारप्राकृतिक आपदाओं व अन्य कारणों से ऋण नहीं चुका पाता है। ऐसे किसानों के लिए सरकार उन्हें ऋण के ब्याज में छूट दे रही है जिससे वह ऋण का आसानी से भुगतान कर सकते है। प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से इस Uttar Pradehs EK Must Samadhan Yojana 2020 से जुडी सभी जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया ,पात्रता ,दस्तावेज़ आदि प्रदान करने जा रहे है अतः हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े और योजना का लाभ उठाये।

उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना 2020

Details Of Ek Must Samadhan Yojana 2020

NameEk Must Samadhan Yojana 2020
Launched ByUtter Pradesh Government
Launched forfor farmer  of Utter Pradesh state
BenefitFarmers of Uttar Pradesh who have taken loan for agriculture can avail this scheme and pay their loan.
Official Websitehttp://upgramvikasbank.up.nic.in/

यूपी के जिन किसानो ने कृषि के लिए  ऋण लिया है वह  इस योजना का लाभ उठाकर अपने ऋण का भुगतान कर सकते हैं।एकमुश्त समाधान योजना  2020 का लाभ उत्तर प्रदेश के उन किसानो को प्रदान किया जायेगा।  जो 31 जुलाई से पहले अपने ऋणों का भुगतान करते हैं। इसके बाद इस किसान को इस छूट का लाभ नहीं मिल पाएगा तो किसान भाई मौके का फायदा उठाते हुए ऋण का एक मुश्त भुगतान कर मिल रही छूट का फायदा उठा सकते हैं। इस योजना का लाभ उठाने के लिए यूपी के किसानो को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इस उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना 2020 के तहत राज्य के 2.63 लाख से अधिक किसानो को लाभान्वित किया जायेगा। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना के तहत तीन श्रेणियों निर्धारित की गयी है जिसकी पूरी जानकारी हमने नीचे दी हुई है।

एकमुश्त समाधान योजना को तीन श्रेणियों में बांटा गया है-

  •   पहली श्रेणी – इस श्रेणी में राज्य के उन किसानो को रखा गया है जिन्होंने 31 मार्च 1997 से पहले  का ऋण  बाकि है और वह इस ऋण को चूका नहीं पा रहे है उस पर देय पूरा ब्याज इस योजना के तहत माफ़ कर दिया जायेगा।
  • दूसरी श्रेणी – इस श्रेणी में राज्य के उन किसानो को रखा गया हैजिन्होंने एक अप्रैल 1997 को या उसके बाद 31 मार्च 2007 तक कर्ज लिया है उन्हें इस तरह ब्याज में छूट दी जाएगी। जिन मामलों में वितरित ऋण राशि के बराबर या अधिक ब्याज की वसूली कर ली गई है, उनमें शेष मूलधन लिया जाएगा।जिन मामलों में वितरित ऋण राशि से कम ब्याज की वसूली की गई उनमें वितरित ऋण राशि की सीमा तक (पूर्व में वसूल ब्याज को घटाते हुए) शेष ब्याज व शेष मूलधन की वसूली की जाएगी।
  • तीसरी श्रेणी – इस तीसरी श्रेणी में राज्य के उन किसानो को रखा जायेगा। जिन्होंने एक अप्रैल 2007  से 31 मार्च 2012 तक कर्ज लिया है तो उन्हें तीन तरीके से छूट दी जाएगी। पहली कर्जदार किसानो पर देय समस्त मूलधन की शत-प्रतिशत वसूली की जाएगी।2. योजना शुरू की तिथि से 31 जुलाई 2018 तक के बीच समझौता कर खाता बंद करने पर ब्याज में 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। 3.एक अगस्त 2018 से 31 अक्टूबर 2018 के बीच समझौता कर खाता करने पर ब्याज में 40 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। 4. एक नवंबर 2019 से 31 जनवरी 2020 के बीच समझौता कर खाता बंद करने पर ब्याज में 35 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश एकमुश्त समाधान योजना का मुख्य उद्देश –

  • उत्तर प्रदेश एकमुश्त योजना का मुख्य उद्देश्य उन किसानों के लिए है जो ऋण तो ले लेते हैं पर चुका नहीं पाते और चुकाने में आधी जिंदगी उनकी ऐसे ही निकल जाती है तो तो सरकार ने किसानों के लिए यह योजना निकाली है |इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के किसान को एक मुश्त ऋण चुकाने पर 35 प्रतिशत से लेकर शत-प्रतिशत छूट प्रदान करना।इस योजना का लाभ राज्य के सभी किसानो को प्रदान किया जायेगा|और इसी योजना के चलते किसान अपने हरण आसानी से चुका पाएगा|

एकमुश्त समाधान योजना 2020 के दस्तावेज़ –

  •  आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत राज्य के किसानो को पात्र माना जायेगा।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • ज़मीन के कागज़ात
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

एकमुश्त समाधान योजना 2020 एप्लीकेशन फॉर्म भरने  का नियम इस प्रकार है

ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

  •  फर्स्ट स्टेप आवेदक को योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा |
  • होम पेज में आपको एकमुश्त समाधान योजना पर क्लिक करना होगा|
  • फिर वह एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा |
  • लाभ कर्ताओं को सारी जानकारी भरनी होगी और दस्तावेज भी लगाने होंगे|
  • फॉर्म सबमिट करना होगा|

ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया

इस योजना को ऑफलाइन भरने की प्रक्रिया के लिए  आवेदक को सहकारी ग्राम विकास बैंक लखनऊ से  संपर्क करना पड़ेगा बैंक में जाकर आपको फॉर्म लेना पड़ेगा फिर सारी जानकारी भरनी पड़ेगी और साथ ही दस्तावेज  लगाने होंगे और आपको हस्ताक्षर करके वह फॉर्म बैंक कर्मी को दे देना होगा इस तरह आपका ऑफलाइन फॉर्म भर जाएगा|

Share This

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *